Sunday, March 25

वो बचपन की मुलाकात आज भी है याद, 
वो छुट्टियों के बाद का साथ आज भी है याद,
जुदा हुए हम तो क्या हुआ ऐ वक़्त,
वो चाँद सा रुखसार आज भी है याद ।। 

No comments:

Post a Comment

#All Men

Charles Dickens in the opening paragraph of 'A Tale of two Cities' wrote, "It was the best of times, it was the worst of times...