Friday, August 29

तेरी याद

तेरी यादों ने हमें तड़पा दिया ,
शायर था ना जो कभी शायरी सिखला दिया।
अब जब बैठते हैं करने शायरी
खुदा कसम तेरी याद शब्द बन जाती है॥

No comments:

Post a Comment

You taste good Not because you are But because you are forbidden From aspiration to obsession And then fatal compulsion That ...